फ़ेसबुक पर अनुसरण करें-

Wednesday, January 13, 2021

सोचूँ तो सोचता ही रहूँ आप क्या दिए

 उतरेगा या के उम्र भर ऐसे रहेगा सर
कहकर के ये तो इश्क़ है कैसा नशा दिए
देने को मैंने क्या न दिया आपको मगर
सोचूँ तो सोचता ही रहूँ आप क्या दिए

-‘ग़ाफ़िल’

1 comment: