मेरा फोटो

मेरे बारे में अधिक जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

मंगलवार, सितंबर 30, 2014

एक ख़्वाहिश

एक ख़्वाहिश है के कोई तो मुझसे प्यार करे
करे नकद न भले ही अभी उधार करे
मैंने सीने को कभी से है बरहना रक्खा
न सही तीरे-नज़र तीरे-ज़ुबाँ पार करे

-‘ग़ाफ़िल’