Thursday, March 24, 2022

फुल मस्ती

है बात और के दौरे रवाँ में मुश्क़िल है
कहाँ हँसी सा मगर रंग कोई दुनिया में

-‘ग़ाफ़िल’








1 comment: