फ़ेसबुक पर अनुसरण करें-

मेरी फ़ोटो

मेरे बारे में अधिक जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

बुधवार, नवंबर 19, 2014

पी जाइए पर अश्क़ बहाया न कीजिए

इन मोतियों को बे-सबब जाया न कीजिए
पी जाइए पर अश्क़ बहाया न कीजिए
भर जाएंगे ये ज़ल्द इन्हें ढांक के रखिए
ज़ख़्मों को सरे-राह नुमाया न कीजिए

-‘ग़ाफ़िल’

4 टिप्‍पणियां: