फ़ेसबुक पर अनुसरण करें-

ग़ाफ़िल

My photo
Babhnan, Gonda, Uttar Pradesh, India

Sunday, April 14, 2013

केतना हमके सतइबू हमार सजनी!

चलिए टेस्ट बदलते हैं! प्रस्तुत है एक गीत-

केतना हमके सतइबू हमार सजनी!
कहवाँ हमसे लुकइबू हमार सजनी!!

जउन मन भावै ऊ कहि डारा बतिया,
नाहीं पछितइबू तू सारी-सारी रतिया,
चला जाबै हम होत भिनसार सजनी!
केतना हमका सतइबू हमार सजनी!!

कइकै बहाना तू बचि नाहीं पइबू,
पीछा नाहीं छोड़ब हम केतनौ छोड़इबू,
ताना मारौ चाहे हमका हजार सजनी!
केतना हमका सतइबू हमार सजनी!!

ग़ाफ़िल चलि जाई त फेरि नाहीं आई,
मानी नाहीं फिर ऊ कउनौ मनाई,
चाहे छूटि जाय पूरा घर-बार सजनी!
केतना हमका सतइबू हमार सजनी!!

हां नहीं तो!

कमेंट बाई फ़ेसबुक आई.डी.

12 comments:

  1. बाड़ा सुन्दर भोजपुरिया गीत प्रस्तुत कईनि भाई जी सादर आभार बा.

    ReplyDelete
  2. tu jetna kahab ham utna satayeeb,ji bhar ke tohka hamhi roaayeeb,diva me tohake hamhin basayeeb,ungli pakad tohayee hamhi chalayeeb,masu madmast

    ReplyDelete
  3. very touching.......apna sa laga ....

    ReplyDelete
  4. वाह वाह !!! बहुत कमाल का गीत लिखा गाफिल साहब,,पढ़कर आनंद आ गया ,आभार

    Recent Post : अमन के लिए.

    ReplyDelete
  5. बहुत सुन्दर...
    पधारें "आँसुओं के मोती"

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    नवरात्रों की बधाई स्वीकार कीजिए।

    ReplyDelete
  7. सुन्दर प्रस्तुति -
    शुभकामनायें आदरणीय ||

    ReplyDelete
  8. भाषा कहें या आंचलिक बोली मिठास से भर पूर है -

    कइकै बहाना तू बचि नाहीं पइबू,
    पीछा नाहीं छोड़ब हम केतनौ छोड़इबू,
    ताना मारौ चाहे हमका हजार सजनी!
    केतना हमका सतइबू हमार सजनी!!

    ReplyDelete
  9. अदभुद बिरह वेदना ........सजनी के लिए लोकभाषा की मिठास लिए आपकी रचना मैं घर में बहुत देर तक गुनगुनाता रहा ......मेरी सजनी तो मान गयी । भगवान् यही ख़ुशी आप तक भी पहुचाएं । शुभ कामनाओं के साथ सुन्दर भोजपुरी रचना के लिए आभार भी मिश्र जी ।

    ReplyDelete
  10. बोली की मिठास ने मुग्ध कर दिया, छत्तीसगढ़ी से काफी मिलती जुलती बोली है, सरलता से समझ में आ गई. गीत ने गुनगुनाने के लिये मजबूर कर दिया.
    ग़ाफ़िल चलि जाई त फेरि नाहीं आई,
    मानी नाहीं फिर ऊ कउनौ मनाई,

    इन पंक्तियों के लिए विशेष रूप से बधाई स्वीकार कीजिये......

    ReplyDelete
  11. चला जाबै हम होत भिनसार सजनी! HAI



    WAAH WAAH KYA BAAT

    ReplyDelete