फ़ेसबुक पर अनुसरण करें-

मेरी फ़ोटो

मेरे बारे में अधिक जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

रविवार, फ़रवरी 01, 2015

मेरी जान मैंने देखा है

तेरी आँखों में इक तूफ़ान मैंने देखा है
फिर मेरी मौत का सामान मैंने देखा है
रक्स करता हुआ शोला कोई तबस्सुम सा
तेरे होंठों पे मेरी जान मैंने देखा है

-‘ग़ाफ़िल’

1 टिप्पणी: