फ़ेसबुक पर अनुसरण करें-

Friday, September 01, 2017

शबे विसाल

ग़ाफ़िल अब इस शबे विसाल के बाद
भूल जाए न टीस फ़ुर्क़त की

-‘ग़ाफ़िल’
(चित्र गूगल से साभार)

No comments:

Post a Comment