फ़ेसबुक पर अनुसरण करें-

ग़ाफ़िल

My photo
Babhnan, Gonda, Uttar Pradesh, India

Tuesday, September 05, 2017

शर्तिया सोना ख़रा हो जाएगा

रंगो रोगन से सजे इस जिस्म का
इल्म भी क्या है के क्या हो जाएगा
आतिशे उल्फ़त में जल जा तू भी हुस्न
शर्तिया सोना ख़रा हो जाएगा

-‘ग़ाफ़िल’
(चित्र गूगल से साभार)

1 comment:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा आज बुधवार (06-09-2017) को
    तरु-शाखा कमजोर, पर, गुरु-पर, पर है नाज; चर्चामंच 2719
    पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

    ReplyDelete