फ़ेसबुक पर अनुसरण करें-

Friday, September 15, 2017

तो वादाखि़लाफ़ी का फ़न लेके लौटा

बताओ! गया जो भी उल्फ़त के रस्ते
कहाँ वह सुक़ूनो अमन लेके लौटा
अरे!! लौटा भी दिल जो सुह्बत से उनकी
तो वादाखि़लाफ़ी का फ़न लेके लौटा

-‘ग़ाफ़िल’

No comments:

Post a Comment