फ़ेसबुक पर अनुसरण करें-

Wednesday, August 16, 2017

तुझपे इल्ज़ाम लगाएँ तो लगाएँ कैसे

तू ही तो बाइसे रुस्वाई है लेकिन ग़ाफ़िल
तुझपे इल्ज़ाम लगाएँ तो लगाएँ कैसे

-‘ग़ाफ़िल’

No comments:

Post a Comment