फ़ेसबुक पर अनुसरण करें-

मेरी फ़ोटो

मेरे बारे में अधिक जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

सोमवार, अप्रैल 16, 2018

सब तराने वो जो हम गाए थे

पास इतने भी कभी आए थे
यूँ के हम जाम भी टकराए थे
याद हों या के न हों तुमको अब
सब तराने वो जो हम गाए थे

-‘ग़ाफ़िल’

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें