फ़ेसबुक पर अनुसरण करें-

मेरी फ़ोटो

मेरे बारे में अधिक जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

सोमवार, जुलाई 17, 2017

जाम ग़ाफ़िल ज़रा छुपा रखिए

आईना आपसे ख़फ़ा है अगर
फिर तो अब हमसे राबिता रखिए
हैं यहाँ लोग आज संज़ीद:
जाम ग़ाफ़िल ज़रा छुपा रखिए

-‘ग़ाफ़िल’

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें