फ़ेसबुक पर अनुसरण करें-

ग़ाफ़िल

My photo
Babhnan, Gonda, Uttar Pradesh, India

Thursday, October 08, 2015

आप जिसका जवाब भूले हैं

जब तुम्हारी गली में आए हैं
यार पत्थर हज़ार बरसे हैं

हुस्न वालों से मात खा खाकर
इश्क़ में हम कमाल करते हैं

शेखियाँ क्यूँ बघारते हो जब
हम तुम्हारे क़रीब होते हैं

और दीदार को रहा भी क्या
मौत का रक्स ख़ूब देखे हैं

आज वो भी लगा रहे तुह्मत
नाज़ जिनके बहुत उठाए हैं

वो सवाल इश्क़ का था ग़ाफ़िल जी
आप जिसका जवाब भूले हैं

-‘ग़ाफ़िल’

1 comment:

  1. बहुत खूब
    मन को छूती गजल

    ReplyDelete